Father Daughter Sex Story – बाप बेटी की सच्ची सेक्स कहानी

Father Daughter Sex Story, बाप बेटी सेक्स स्टोरी : मेरा नाम राजीव है, मैं कानपूर का रहने वाला हूँ। मेरी उम्र 40 साल है। अगस्त में मेरी दूसरी शादी हुई। पहली बीवी अपने पुराने यार के साथ भाग गयी आज से आठ साल पहले। मेरी सेक्स कहानी डॉट कॉम पर आकर एक से बढ़कर एक सेक्स कहानियां पढता हूँ और मूठ मारता हूँ । पर अब मूठ नहीं मरूंगा क्यों की नवंबर में मेरी दूसरी शादी हो गयी।

मेरी बीवी मेरे से तीन साल बड़ी है और एक बेटी है जो की बीस साल की है। इस बीवी का पति का देहांत हो गया इसलिए मुझे मिल गयी ताकि हम दोनों ही एक नई ज़िंदगी शुरू कर सकें। पर एक भी कंडीशन था इस शादी का की मैं उसकी बेटी का शादी करवाऊं। तो मैंने भी हां कर दिया था की जो भी शादी में खर्चे लगेंगे वो मैं ही दूंगा।

अब मैं आपको अपनी बेटी जो की मेरी बीवी के साथ आई है उसके बारे में बता दूँ। उसका नाम है दीप्ती दीप्ती बीस साल की हॉट और खूबसूरत लड़की है बीए में पढ़ती है। खूबसूरत ऐसी की उसकी माँ मंजू यानी की मेरी बीवी कही नहीं ठहरती है। लम्बी चौड़ी बड़ी बड़ी गोल गोल चूचियां गोरा बदन हिरणी सी चाल कजरारी आँखे और होठ सुर्ख गुलाबी ओह्ह्ह कमाल की चीज है।

मेरी बीवी ही एक नंबर की सेक्सी और हॉट औरत है। वो भी इस वेबसाइट की फैन है। हम दोनों नई नई कहानियां पढ़कर रोजाना अलग अलग अंदाज में चुदाई करते हैं। माँ बेटी दोनों ही काफी मॉडर्न है मेरी बीवी पास के ही एक यूनिसेक्स सलून में काम करती है तो अपने आप को हॉट और सुन्दर बना कर रखती है।

और रात में उसके जलबे बड़े ही हॉट और सेक्सी रहते हैं ऐसे कपडे पहनती है की किस का भी लंड खड़ा हो जाये अंदर ब्रा भी नहीं होता है और ऊपर के कपडे सेक्सी और रात को हम दोनों ही दो दो पेग लगा लेते हैं और फिर हम दोनों की चुदाई शुरू होती है। मेरी बीवी बहुत ही ज्यादा सेक्सी आवाज निकालती है जिसकी वजह से मैं कामुक हो जाता हूँ और फिर जोर जोर से चुदाई करने लगता हूँ।

एक दिन की बात है मेरी बीवी जब सलून गयी तो मेरी बेटी यानी की दीप्ती बोली आप और मम्मी रात में इतनी जोर जोर से आवाज क्यों निकालते हो ? आप दोनों को ये पता होने चाहिए की घर में और भी कोई रहता है एक जवान बेटी रहती है। अगर ऐसे ही आवाज निकालने का शौक है तो आप दोनों होनीमून पर चले जाइये। क्यों की इसी भी जवान लड़की आप दोनों को आह सुने तो उसका मन क्या करेगा आप खुद बताइये।

हॉट और सेक्सी सेक्स कहानियां  विधवा हूं पेट से हूं, बेटे ने गर्भवती किया मुझे

मैंने कहा तो क्या करूँ इसमें मेरा दोष नहीं है दोष तुम्हारे मम्मी का है वो जबरदस्त तरीके से सेक्स करना चाहती है मैंने कहा भी की दीप्ती क्या सोचती होगी तो वो बोली क्या सोचेगी उसको भी पता होगा उसकी मम्मी सेक्स कर रही है। मुझे संतुष्ट भी करना होता है इसलिए मैं धीरे धीरे नहीं कर सकता।

इतना सुनते ही मेरी बेटी बोली मैं भी सेक्स हूँ। रात को मैंने आपदोनो को सेक्स करते हुए खिड़की से देख ली थी। तब से मैं परेशान हूँ मुझे ना तो पढाई में मन लग रहा है ना किसी काम में। मैं बिना सेक्स के नहीं रह पाऊँगी। और मैं नहीं चाहती की घर से बाहर मैं कोई काम करूँ क्यों की बाद में एक लड़की के लिए बहुत दिक्कत होता है अगर घर से बाहर किसी से सेक्स सम्बन्ध बना ले तो। क्यों की बाद में वो ब्लैकमेल करेगा।

और अगर आप मुझसे सेक्स करेंगे तो घर की बात घर तक ही रहेगी यहाँ तक की मम्मी तक भी ये बात नहीं पहुंचेगी और मैं जब चाहूँ या आप जब चाहे एक दूसरे की शारीरिक इच्छा को पूरा कर सकते हैं। मैं समझ गया ये जो बात कह रही है वाकई में सही है। मैं कुछ नहीं बोल पाया यानी की मेरी ख़ामोशी ही हां था।

वो मेरे करीब आ गयी और मेरे बालों को पकड़ पर अपने होठ मेरे होठ पर रख दी। धीरे धीरे एक दूसरे के होठ को चूसने लगे। हम दोनों ही एक दूसरे को सहलाते हुए लिप लॉक कर लिए। ओह्ह्ह्ह रसीली होठ और हॉट शरीर मैं खुद को रोक नहीं पाया और जोर से उसको अपनी तरफ खींच लिया।

उसकी चूचियां जब मेरे सीने से लगा तो ऐसा लगा मानो मखमली तकिया मेरे सीने से लगा हुआ हो। उसकी साँसे तेज तेज चलने लगी मेरी भी साँसे तेज तेज चल रही थी। उसने मेरे शर्ट का बटन खोल दिया और मेरे छाती को चाटने लगी। मैंने उसको अपनी गोद में उठाया और बैडरूम में ले गया।

हॉट और सेक्सी सेक्स कहानियां  बेदर्दी से चोदता है मेरा ससुर

उसके टॉप उतारे और ब्रा का हुक खोला ओह्ह्ह्हह्हह बड़ी बड़ी गोल गोल टाइट और उसपर से पिंक कलर कर निप्पल ओह्ह्ह्हह्हह मैं टूट पड़ा, मैं दोनों हाथों से उसके दोनों चूचियों को दबोच लिया और फिर दबाने लगा सहलाने लगाए फिर अपने मुँह में उसके निप्पल को लेकर चूसने लगा।

वो शर्माने लगी अँगड़ाईये लेने लगी। वो आह आह आह ओह्ह ओह्ह्ह उफ़ उफ्फ्फ आउच की आवाज निकालने लगी। उसकी ये आवाज बहुत ही हॉट और सेक्सी थी। मेरा लंड खड़ा हो गया। मैंने अपना पेंट खोला और लंड को हाथ में लेकर उसके होठ से लगाया। पहले तो वो कह रही नहीं नहीं नहीं मैं मुँह में नहीं लुंगी।

मैंने कहा ले ले बहुत मजा आएगा। तेरी माँ तो इस लंड की दीवानी है वो जब चुदती है तो बार बार मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर चूसती है प्यार करती है खेलती है। अपने जिस्म में रगड़ती है। इतना सुनते ही दीप्ती तुरंत ही मेरा मोटा लंड अपने मुँह में ले ली और चूसने लगी। मेरे लंड से हल्का हल्का वीर्य निकल रहा था तो वो कहती थी नमकीन सा लग रहा है।

ओह्ह्ह्ह अब उसके जलबे गजब के होने लगे वो लेट गयी अपने पैरों को फैला दी। और मुझे नशीली आँखों से देखने लगी। मैं उसका दीवाना हो चुका था। मैंने तुरंत ही उसके दोनों पैरों को अलग अलग किया और दीप्ती का चूत चाटने लगा और साथ साथ दोनों चूचियों को दोनों हाथों से मसलने लगा। वो और भी ज्यादा कामुक होने लगी।

मुझे भी अब देरी अच्छी नहीं लग रही थी। मैनें अपना लंड उसके चूत के छेद पर रखा और उसको सहलाते हुए धीरे धीरे डालने लगा अंदर। वो बार बार अपनी गांड पीछे खींच लेती तो लंड जा नहीं रहा था। मैंने इस बार उसको जोर से पकड़ा और पूरा लंड उसकी टाइट चूत में डाल दिया। वो अब हिल भी नहीं पा रही थी।

मैंने अब जोर जोर से अंदर बाहर अपने लंड को करने लगा। वो भी कामुक हो गयी और जोर जोर से गांड घुमाने लगी और आआह आआह आआह ओह्ह्ह्हह ओह्ह्ह्हह अअअअअ की आवाज निकालने लगी। अब में उसके दोनों टांगो को अपने कंधे पर रखा और बिच में लंड दे कर जोर जोर पेलने लगा। ऐसा करने से उसकी चौड़ी गांड भी सामने थी तो लग रहा था गांड भी मार लूँ।

हॉट और सेक्सी सेक्स कहानियां  पापा ने चूत और गांड लाल कर दिया चोद-चोद कर

मैंने कहा दीप्ती अब मुझे गांड मारने हैं क्यों की तुम्हारा गांड बहोत ही सेक्सी और हॉट लग रहा है। उसने कहा अब सब कुछ आपका है मेरे पापा जी अब जो मर्जी करो मैं कुछ नहीं कहूँगी। इतना सुनते ही मैंने अपना लंड उसके गांड पर लगाया। गांड भी गीली हो गयी थी क्यों चूत का पानी गांड के छेद को गीला कर दिया था।

मैंने दीप्ती के गांड लंड घुसा दिया उसे बहुत दर्द हुआ पर धीरे धीरे वो भी मान गयी और आराम से गांड भी मरवाने लगी। ओह्ह्ह्हह क्या बताऊँ दोस्तों एक ही दिन में गांड और चूत बहुत ही मुश्किल से मिलता है। एक दिन और वो भी पहले दिन वाओ मजा आ गया।

अब अलग अलग तरीके से मैं दीप्ती को चोदने लगा कभी बैठा कर कभी घुमा कर कभी खड़ा कर के कभी लेट कर ओह्ह्ह्ह खूब ट्राई किया अलग अलग पोजीशन में भी हम दोनों शांत हो गयी करीब डेढ़ घंटे की चुदाई के बाद। फिर हम दोनों एक दूसरे को पकड़ कर सो गए फिर एक घंटे के बाद दोनों एक दूसरे को होठ चूसने लगे और फिर से चुदाई में लग गए।

दोस्तों आजकल मेरी जिंदगी मजे से चल रही है। बीवी को रात में और बेटी को दिन में चोदता हूँ मेरा काम भी वर्क फ्रॉम होम है और मेरी सलून जाना होता है तो मैं इसका आनंद ले रहा हूँ। मेरी सेक्स कहानी डॉट कॉम पर मैं अपनी दूसरी कहानी भी जल्द ही लेकर आऊंगा तब तक के लिए आपका इजाजत लेता हूँ

1 thought on “Father Daughter Sex Story – बाप बेटी की सच्ची सेक्स कहानी”

Leave a Comment