एक साल से बूढ़ा ससुर चोद रहा है मुझे ताकि बेटा पैदा हो

महिलाओं की ज़िंदगी के अलग अलग पहलु होते हैं। नाजायज फायदा सब उठाते हैं चाहे घरवाला हो या बाहर बाला। जिसको भी मौका मिलता है वो अपनी सेक्स की भूख या हवस कहिये शांत कर ही लेता है। मेरे साथ भी यही हो रहा है। आज मैं अपनी सेक्स कहानी वो भी बेटा पैदा हो इसके लिए ससुर जी जो की सत्तर साल का हो गया है टेबलेट खा खा कर। अश्वगंधा मुलेठी का इस्तेमाल कर कर के मुझे रोज चोदता है ताकि मैं गर्भवती हो जाऊं और उसके गोद में पोता दूँ।

आज मैं आपको अपनी पूरी कहानी मेरी सेक्स कहानी डॉट कॉम पर सूना रही हूँ। मेरा नाम सरिता देवी है मैं 27 साल की हूँ। शादी को छह साल हो गए पर बेटा पैदा नहीं हुआ। एक बेटी है वो भी पति का नहीं है मेरे देवर का है और देवर भी अब इस दुनिया में नहीं है वो भी कोरोना की चपेट में आ गया और चल दिया दुनिया छोड़कर। अभी तक आप ये सोच रहे होंगे की आखिर मेरी चुदाई ससुर क्यों करता है। पति क्यों नहीं। एक बेटी भी है वो भी मेरे देवर का आखिर क्या बात है। अब आपके दिमाग में यही सब बातें आने लगी होगी। तो अब मैं आपको ये बता देती हूँ की मेरी शादी और मेरे पति का रोल क्या है मेरी ज़िंदगी में।

मेरे पति का अनिल है शादी हुई ज़िंदगी खुशहाल थी। हम पति पत्नी बहुत खुश थे जब मेरी शादी हुई थी पर क्या बताऊ दोस्तों, पता नहीं किसकी नजर लग गयी मेरी हसती खेलती दुनिया में। मेरे पति का एक्सीडेंट हो गया शादी एक तीन महीने में ही। मेरी मेहंदी का रंग भी अभी नहीं उतरा था मेरे हाथों से मेरा पति बेड पर आ गया। वो पैरालायसिस हो गया। वो चल फिर भी नहीं सकता है। ठीक से पहचानता भी नहीं है सबको। वो किसी काम का नहीं रहा वो बस बिस्तर पर ही रहता है मैं ही सेवा करती हूँ।

घर में ये दो भाई थे तो एक पहले ही चला गया और दूसरा भाई बिस्तर पर पड़ा है। मेरी सास भी नहीं है वो दस साल पहले ही गुजर गयी घर में इनके दो भी बच्चे थे। अब आपको पूरा माजरा समझ आ गया होगा।पर आपको ये जानना जरुरी है की आखिर मेरा ससुर मेरे पीछे कैसे पड़ा और मैं कैसे खुद को उसके हवाले ककरने के लिए तैयार हो गयी। मैं कैसे अपने बूढ़े ससुर से ही सेक्स सम्बन्ध बनाना शुरू कर दिया। फिर आपको लगता होगा की अगर मुझे बेटा पैदा हो भी गया तो समाज क्या सोचेगा।

हॉट और सेक्सी सेक्स कहानियां  मैं खुद चुदी और बेटी को भी चुदवाई रमेश बाबू से

तो पहले ये भी बता देती हूँ मेरे ससुर का दिमाग बहुत चलता है। उन्होंने सब जगह बात फैला दिया की उनका बेटा यानी मेरा पति अब धीरे धीरे ठीक होने लगा है अभी थोड़ा दिमागी हालात ठीक नहीं है और पैरों हाथों का इस्तेमाल नहीं कर पा रहा है। पर बाकी के अंग ठीक होने लगे है। यहाँ तक की बहु भी अब साथ ही सोती है अपने पति के साथ।

मैं भी आस पड़ोस में बता दी हूँ की वो अब मेरे साथ सोते हैं और पति पत्नी का रिश्ता फिर से शुरू हो गया है यानी की चुदाई का रिश्ता। इन सब के लिए मेरे ससुर जी काफी समझाए बोले देखो बहुत वंश बढ़ाना तुम्हारा काम है। पति किसी काम का नहीं रहा इतनी प्रॉपर्टी है तुम्हारी है। लेकिन अगर तुम्हे बेटा नहीं होगा तो तुम अपनी ज़िंदगी कैसे जीओगी। पति का भी कोई ठिकाना नहीं है कब तक है भगवान् मालिक। तो तुम्हे ही अब सब कुछ सोचना होगा इसलिए अब शर्म हया छोडो और घर की बात घर में ही रह जाये ये अच्छा है।

मुझे भी लगा ठीक है कह रहा है बूढ़ा। आखिर फायदा तो मेरा ही होने वाला है। तो मैंने धीरे धीरे उनके तरफ आकर्षित होने लगी। वो मुझे ज्यादा इज्जत भी देने लगे मेरी बातों को भी सुनने लगे और मेरे ऊपर पैसे भी खर्च करने लगे। सोने का जेवर से लेकर पैसे से लेकर कपडे से लेकर हरेक कुछ का ख्याल रखने लगे।

तो मेरी पहली चुदाई कब और कैसे हुई अब मैं ये बताती हूँ।

एक दिन की बात है काफी जोर से आंधी तूफ़ान और बारिश आने वाली थी छत पर गेहूं सुख रहा था ताकि उसमे कीड़े नहीं पड़े। हम दोनों यानी की मैं और ससुर जी जल्दी जल्दी करके गेहूं को छत से निचे उतारे पर अंतिम समय में हम दोनों ही भीग गए। क्यों की और भी काम मुझे पड़ गया था इसलिए मैं ज्यादा गीली हो गयी थी। उस दिन मैं ब्रा नहीं पहनी थी और सूती का ब्लाउज थे। भीगते ही मेरे कपडे मेरी बूब्स यानी की चूचियों में चिपक गया। जिससे साफ साफ़ मेरी दोनों गोल गोल और बड़ी बड़ी चूचियां दिखाई देने लगी तभी मेरे ससुर के मुँह से लार टपक गया।

हॉट और सेक्सी सेक्स कहानियां  पुत्र पैदा होगा अगर मैं चोदुंगा ससुर जी ऐसा बोल कर चोद रहे हैं 7 दिनों से

वो मेरे जिस्म को घूरने लगे आगे से भी पीछे से भी क्यों की पीछे गांड की उभार भीगने की वजह से साफ साफ़ दिखाई देने लगी थी। मेरे बाल भी भीग गए थे इस वजह से मैं और भी सेक्सी लगने लगी थी। जब निचे कमरे में आई मेरी बेटी स्कूल गयी थी पति दूसरे कमरे में अकेले ही रहता है उसको होश नहीं रहता है। तो जब कमरे में मैं अपने बाएं को झटक झटक कर सुखाने लगी तो ससुर जी भी अंदर आ गए कमरे में और उसी समय गलती से मेरा आँचल यानी पल्लू सरक गया।

अब तो पहले से जो साफ़ साफ़ दिखाई दे रही थी अब ऐसा लगा की मैं नंगी ही खड़ी हूँ। ससुर जी बर्दाश्त नहीं कर पाए और मेरी तरफ आकर उन्होंने मेरे जिस्म को नजदीक से निहारते हुए मेरी चूचियों पर अपना हाथ रख दिया। और फिर मुझे अपनी तरफ खींच लिया पीछे से अपना दोनों हाथ मेरी दोनों चूतड़ पर लगा लिए और अपने लंड में सटाने लगे। पहले तो अच्छा नहीं लग रहा था पर उनका अभी तक लंड का मोटा होना और लम्बा होना मुझे हैरत में कर रहा था। यानी की उनका लंड अभी भी किसी जवान लड़के से कम नहीं था।

मैं अपने आप को रोक नहीं पाई क्यों की मैं दो साल से तड़प रही थी चुदने को, आज मुझे फिर से लंड का नसीब हो रहा था 2022 जून में ही अंतिम चुदाई हुई थी। ये सब तो प्रीप्लानिंग थी पर शुरुआत नहीं हुई थी ये बहुत बड़ी बात थी हम दोनों अभी तक एक दूसरे की इज्जत कर रहे थे। पर आज सारी सीमाएं टूट चुकी थी। उन्होंने मुझे पलंग पर लिटा दिया और सारे कपडे उतार दिए।

उन्होंने जमकर मेरे जिस्मो के साथ खेला और फिर वही हुआ जिसका इंतज़ार था। उन्होंने पहले मेरी चूचियां खूब दबाई मेरी चूत को ऐसे चाट गए जैसे की कुत्ता किसी चीज को चाट कर साफ़ कर देता है। उस समय वो कुत्ते से कम नहीं लग रहे थे। मेरी मोटी जांघें और गदराई हुई जिस्म के साथ खेलते हुए मेरी चूत में उंगलिया डाल रहे थे। इससे मेरे पुरे शरीर में आग लग रही थी। मेरी चूत गीली हो रही थी सिसकारियां निकल रही थी।

हॉट और सेक्सी सेक्स कहानियां  भाई को चूचियां दिखाकर चोदने को मजबूर किया

जब उन्होंने अपना लंड मेरी छूट पर लगाया और पहली बार धक्का दिया अंदर करने को तो मेरे मुँह से आआआ की आवाज निकल गयी और शुकुन मिला। उन्होंने अपना मोटा लंड मेरी चूत में घुसेड़ दिया मेरी निप्पल को दांतो से काटते हुए मेरी गांड में अपना ऊँगली करते तो मैं और भी ज्यादा पागल हो जाती थी। मैं वासना से भर गयी थी मेरी अन्तर्वासना जाग गयी थी मैं पहले से ही सेक्स की भूखी थी तड़प रही थी चुदाई को. उस दिन ससुर जी ने मेरी सारी इच्छा पूरी कर दी।

मैं खूब चुदी रात भर चुदी बाहर वारिश भी हो रही थी और मैं अपने बूढ़े ससुर से चुद रही थी। वो दिन और आज का दिन एक साल होने वाला है रोजाना चुदती हूँ पति पत्नी की तरह रहती हूँ। लोगों को पता है मेरा पति ठीक हो रहा है पर वो वैसा की वैसा है मेरी ज़िंदगी बदल गयी है ससुर के साथ रहकर। किसी चीज की कमी नहीं है पर पुत्र अभी नहीं हो रहा है। वो भी अब जल्दी हो जायेगा क्यों की वो आजकल एक से एक टेबलेट और अस्वगंधा शिलाजीत का इश्तेमाल कर रहे है और चुदाई ज्यादा हो रही ही।

दस दिन इस बार दिन भी चढ़ गया है पीरियड नहीं आया है शायद इसी महीने खुशखबरी भी आप सबों को दे दूँ। मैं अपनी और भी कहानी मेरी सेक्स कहानी डॉट कॉम पर लिखूंगी ताकि आप लोग भी मजे ले सके तब तक ले लिए धन्यवाद।

1 thought on “एक साल से बूढ़ा ससुर चोद रहा है मुझे ताकि बेटा पैदा हो”

  1. अगर कोई लेडीज आंटी भाभी old age matured divorced single moms apne tarike se sex me kuch bhi maja lena chahti ho to mujhe मैसेज करे व्हाट्सएप पे
    आपकी पूरी जानकारी गुप्त रखी जायेगी और मजा पूरा वो भी aapke hisab se diya जायेगा
    तो जल्दी करे
    और हां जिन्हे ये मजाक लगता है या जरूरत नहीं है वो मैसेज ना करे

    Reply

Leave a Comment