पापा ने मुझे चुदवाया अपना उधार चुकाने के लिए

Papa Ne Mujhe Chudwaya Meri Sex Kahani : मेरा नाम दीप्ति है मैं 21 साल की हूं मैं दिल्ली में रहती हूं। आज मैं आपको अपनी सेक्स कहानी मेरी सेक्स कहानी डॉट कॉम पर लिखने जा रही हूं। यह मेरी पहले सेक्स कहानी है इस वेबसाइट पर। जब से मुझे पता चला इस वेबसाइट पर सिर्फ महिलाएं अपने अपने आप भी थी और कहानियां सुनाती है तो मैंने भी इस वेबसाइट पर एक अपनी सेक्स कहानी लिखने के लिए सोची और मैं आज पोस्ट कर रही हूं।

आज मैं इस सेक्स कहानी के माध्यम से आपको यह बताने वाली हूं कि कैसे मेरे पापा ने मुझे अपना कर्ज चुकाने के लिए मुझे 2:00 दिन के लिए एक अंकल के पास भेजा था नोएडा मैं 2 दिन वही रहे थे और उन्होंने मुझे 2 दिन तक क्या-क्या किया वह मैं सारी बातें आपको इस वेबसाइट पर लिखने जा रही हूं।

मेरे पापा एक छोटी कंपनी में काम करते हैं। तनख्वाह उनकी इतनी अच्छी नहीं है और मम्मी का जिद था कि एक घर बनाने के लिए गांव का थोड़ा जमीन था उसको बेचकर पापा ने दिल्ली में एक छोटा सा जगह खरीदा था पर बनाने में उनके हाथ पांव फूल गए थे। इस वजह से उनको काफी ज्यादा कर्जा हो गया था सबसे ज्यादा कर जा जो हुआ था वह दीपक अंकल के पास हुआ था। दीपक अंकल को जब पापा ने पैसे नहीं दिए तो उन्होंने काफी ज्यादा गाली गलौज किया और बोला कि मेरे ₹100000 तुम नहीं दे रहे हो। अगर तुमने 3 दिन के अंदर यह पैसे मुझे वापस नहीं किए तो या तो तुम अपनी बेटी को भेजोगे 2 दिन के लिए या तो अपने पत्नी को भेजोगे 10 दिन के लिए।

अब तुम खुद डिसाइड कर लो कि तुम्हें पत्नी को भेजना है या बेटी को भेजना है। पापा ने यह सारी बातें मम्मी को बताई तो मम्मी बोली। तुमने गलत आदमी से पैसा ले लिया है वह पहले से ही बहुत बदतमीज और खूंखार इंसान है अगर तुमने इसको पैसे नहीं दिए तो जीना हराम कर देगा इसलिए 10 दिन मैं जाऊंगी इससे बेहतर है कि 2 दिन के लिए दीप्ति को ही उसके पास भेज देते हैं।

डिसाइड हो गया मैं 2 दिन के लिए अंकल के यहां जाने वाली थी। पापा मम्मी ने मुझे समझाया कि 2 दिन की बात है चले जाओ नहीं तो पूरे परिवार के लिए दिक्कत हो जाएगा इसलिए मैं भी तैयार हो गई क्योंकि मुझे ऐसे भी कोई दिक्कत नहीं था वह अंकल हॉट और सेक्सी हैं मुझे पहले से भी वह पसंद थे। तो मुझे जाने में ऐसे भी कोई दिक्कत नहीं था। जब अंकल आते थे मेरे घर पर तो वह मुझे घूर घूर कर देखते थे और सच तो यह बात है दोस्तों कि मैं भी उनको पसंद करने लगी थी। मुझे तो चुदने का लाइसेंस मिल गया था तो मेरे लिए तो और यह अच्छी बात हो गई थी।

बस 1 दिन तैयार हो गई और उनके फ्लैट पर नोएडा चली गई। मुझे मेट्रो के 52 सेक्टर उतरना था मैं जब वहां उतरे तो अंकल वहां पहले से ही खड़े थे मुझे रिसीव करने के लिए। उन्होंने मुझे बड़े इज्जत के साथ अपनी कार में बैठाया और अपने फ्लैट पर जाने से पहले मुझे एक अच्छे होटल में खाना खिलाए मॉल में घूमे मुझे एक ड्रेस भी उन्होंने दिलवाया मुझे एक जूते भी दिलवाए। उसके बाद हम दोनों ने आइसक्रीम पार्लर में जाकर आइसक्रीम खाया और फिर उनके फ्लैट पर रात के करीब 9:00 बजे पहुंच गए।

अंकल की पत्नी अंकल के साथ नहीं रहती है क्योंकि वह कतर एयरवेज में काम करती है। वह दो-तीन महीने में ही आती है। तो बड़े से फ्लैट में अंकल अकेले रहते हैं अंकल बहुत अमीर और हॉट इंसान हैं वह जिम जाते हैं वह अच्छी-अच्छी किताबें पढ़ते हैं खुश रहते हैं और योगा वगैरह करते हैं। अगर सच पूछो तो मुझे भी अंकल की तरह ही पति चाहिए।

हॉट और सेक्सी सेक्स कहानियां  पापा ने गिफ्ट देकर चोदा रात भर

जब मैं उनके फ्लैट पर पहुंचे तो उन्होंने मुझे गले लगा कर स्वागत किया और उन्होंने कहा। कि तुम मुझे गलत मत समझना मैं तुम्हारी बहुत आदर करता हूं मैं तुम्हें किस तरीके से बुलाने का कोई मतलब नहीं था पर मैं तेरे पापा को मजा चखाना चाहता था क्योंकि वह एक नंबर का कमीना इंसान है। पर तुम बहुत अच्छी हो तुम बहुत पहले से ही मुझे पसंद हो और शायद तुम भी मुझे पसंद करती हो क्योंकि तुम मुझे ऐसे घूर कर देखती थी जब मैं तुम्हारे घर जाता था तो मुझे लगता था कि तुम मुझे भी पसंद करती हो।

मैं अपना सर झुका ली क्योंकि जो अंकल बोल रहे थे वह एकदम सही बात बोल रहे थे। अंकल ने मेरे कंधे पर हाथ रखा और मेरी आंखों में आंखें डाल कर उन्होंने कहा कि दीप्ति तुम्हें कभी किसी चीज की कमी होगी तो तुम मुझसे मांग लेना। मैं तुम्हें बहुत पसंद करता हूं। और मैं तेरे से कोई जबरदस्ती नहीं करना चाहता। अब ना मैं जबर्दस्ती करूंगा अगर तुम्हें लगता है कि तू मेरे साथ सही नहीं है तुम्हें कंफर्टेबल फील नहीं हो रहा है तो तुम अलग कमरे में सो सकती हो मैं अलग कमरे में सो सकता हूं। और 2 दिन के बाद तुम अपने घर चले जाना।

मैंने कहा नहीं नहीं 2 दिन में रहूंगी तो मैं चाहती हूं कि मैं आपके साथ ही मजे करूं और यह मौका मुझे मिला है तो इस मौके को मैं नहीं गवाह। इतना कहते ही अंकल ने मेरे गाल पर किस कर लिया। और मेरे जांघ पर हाथ रख कर सहलाने लगे। धीरे-धीरे वह मेरे होंठ के करीब पहुंच गए और मेरे होंठ को चूमने लगे। मैं आंखें बंद कर ली और वह अब मेरे जिस्म को चूमने लगे कभी गर्दन कभी कंधे कभी गाल कभी ललाट कभी ना कभी काम।

उन्होंने मुझे 2 मिनट के अंदर है कामुक बना दिया। उन्होंने मुझे अपने बेडरूम में आने के लिए कहा मैं खड़ी हो गई वह मेरा हाथ पकड़ कर अपने बेडरूम में ले गए। मैं बेड पर जाकर बैठ गई वह भी करीब बैठ गए और फिर से वह मुझे चूमने लगे धीरे-धीरे करके मेरे कपड़े उन्होंने उतार दिए। जैसे ही उन्होंने मेरी ब्रा को खोला मेरे दोनों बड़ी-बड़ी चूचियां बाहर आजाद हो गई। निप्पल का कलर मेरा पिंक है। उन्होंने जैसे ही मेरी चुचियों को देखा और निप्पल को छुआ। उनके मुंह से वाह शब्द निकला। और फिर उन्होंने मसलना शुरू कर दिया मुझे लिटा दिया।

मेरी आंखें बंद होने लगी क्योंकि जब जब वह मुझे छेड़ते थे मेरे अंदर एक करंट सी दौड़ जाती थी। मैं अंतर्वासना से भर गई थी मुझे उनका खेलना बहुत अच्छा लग रहा था। वह मेरे जिस्म के साथ खेल रहे थे और मैं भी धीरे-धीरे अब कंफर्टेबल फील करने लगी थी। और मैं भी उनको चूमना शुरु कर दी उनके वोट को जब अपने अब मुंह में ली तो मैं पानी पानी हो गई अंकल बहुत हॉट और सेक्सी है उनका चौड़ा सीना देखकर मेरी चूत गीली हो गई थी।

उन्होंने मेरी दोनों बूब्स के साथ खेलना शुरू किया दबाना शुरू किया मचलना शुरू किया। फिर उन्होंने मेरी जांघ पर हाथ फेरते हुए नीचे की तरफ आए मेरी चूत पर अपना हाथ रखे। उन्होंने कहा कि दीप्ति तेरी चूत तो बहुत गीली हो गई है और बहुत ज्यादा गर्म है तुम बहुत हॉट हो। मैं चुप नहीं मैं बस सिसकारियां ले रही थी। उन्होंने मेरे दोनों पैरों को अलग-अलग गया दोनों हाथों से पहले उन्होंने मेरे दोनों बड़ी बड़ी चूचियों कोमसलना शुरू किया। फिर उन्होंने अपने मुंह को मेरे दोनों पैरों के बीच में लगा कर मेरे चूत को अपने जीभ से चाटने लगे।

हॉट और सेक्सी सेक्स कहानियां  पापा ने चूत और गांड लाल कर दिया चोद-चोद कर

मैं पागल हो गई थी जैसा उन्होंने मुझे वासना की आग में झोंकना शुरू किया। मेरे शरीर में सिहरन होने लगी थी मेरे रोम रोम खड़े हो गए थे मेरी चूचियां टाइट हो गई थी मेरी चूत से गरम गरम पानी निकल रहा था और उसी पानी को अंकल चाट रहे थे। उन्होंने अपना लंड निकाला और मेरे दोनों चुचियों के बीच में रखकर आगे पीछे करने लगे मुझे बहुत अच्छा लग रहा था ऐसा करना उनका।

फिर उन्होंने अपना लंड मुझे चूसने के लिए कहा पहले तो मुझे अच्छा नहीं लगा था। पर जैसे ही उनके लंड को मैं अपने मुंह में ले उनका लंड और भी बड़ा हो गया था। मोटा लंड देखकर मैं भी मचल उठी और उनके लंड को चूसने लगी। वह जल्दी जल्दी मेरे मुंह में अपने लंड को दिए जा रहे थे और मैं भी आइसक्रीम की तरह उनके लंड को चूस रही थी। पर मुझे अब चुदाई चाहिए था क्योंकि मेरी चूत काफी ज्यादा गर्म हो गई थी।

मैंने कहा अंकल यह तो बाद में भी कर लेना अब मेरी चूत की आग को आप बुझा दो मैं बहुत ज्यादा कामुक और अंतर्वासना से भर चुके हैं अब मेरे से रहा नहीं जा रहा है जल्द से जल्द आप मेरे जिस्म को शांत करो। उन्होंने तुरंत ही नीचे आकर मेरे दोनों पैरों को अलग अलग किया और अपना लंड मेरी चूत के छेद पर रख कर जोर से घुसा दिया। उनका पूरा लंड मेरी चूत के अंदर समा गया उसके बाद वह मेरी चुचियों को दबाते हुए मसलते हुए वह लंड को अंदर बाहर करने लगे।

जब वह मेरी चूचियों को मसलते और लंड को जोर से अंदर की तरफ धक्का देते तो मैं हिल जाती दोस्तों। मुझे उनका यह स्टाइल बहुत पसंद आ रहा था क्योंकि जैसे वह जोर से धक्के देते थे मेरे तन बदन में एक करंट सी लग जाती थी और मुझे बहुत अच्छा लगता था। हम दोनों ही एक दूसरे की मदद करने लगे थे और वह मेरे जिसमें के साथ खेलते हुए मुझे अपनी बांहों में भरते हुए चोद रहे थे। और मैं भी अपना गांड फैलाकर नीचे से धक्के दे रही थी ताकि उनका पूरा लंड अपने अंदर ले सकूं।

फिर उन्होंने दोनों पैरों को मेरे कंधे के पास रख दिया उनके सामने अब मेरी चूत और लंड निकाल कर मेरे पैर को ऊपर दबाते हुए जोर-जोर से धक्के देने लगे ताकि पूरा अंदर तक चला जाए। मुझे काफी ज्यादा मेरे कमर में दर्द होने लगा था क्योंकि उनका लंड बहुत बड़ा था और वह जोर जोर से धक्के दे रहे थे मेरा दोनों पैर मेरे कंधों के पास था वह दबाए हुए थे और ऊपर से वह फच फच फच फच कर कर चोद रहे थे।

फिर उन्होंने मुझे उल्टा लिटा दिया गांड के तरफ से ही मेरी चूत में उन्होंने लंड घुस आया और जोर जोर से धक्का देने लगे मेरा चूतड़ में जोर जोर से धक्के पड़ता और उनका लंड मेरी चूत के अंदर जाता। फिर वह जीत गए मुझे ऊपर बैठाया और अपना मोटा लंड में चूत के अंदर डालकर नीचे से धक्के देते तो मैं हिल जाती। फिर उन्होंने मुझे गोरी बनाया और पीछे से मेरे गांड पर थप्पड़ मारते हुए वह जोर-जोर से अपना लंड मेरी चूत में डालने लगे। चूत की चुदाई चाहिए क्योंकि मैं भी चाहती हूं आप का लंड आज मेरी चूत की गर्मी को शांत कर दे गांड की चुदाई कल कर लेना।

उन्होंने बोला ठीक है कोई बात नहीं तुम जैसा कहोगी वैसा मैं कोई जबरदस्ती तुमसे नहीं करने वाला हूं मैं तुमसे प्यार करता हूं और मैं तुमसे सेक्स संबंध बनाए रखना चाहता हूं जब तेरी शादी हो जाएगी तुम चली जाना फिर कभी मैं तुम को तंग नहीं करूंगा। मैंने कहा मैं भी यही चाहती हूं कि मैं शादी तक आपके साथ ही ऐसे रंगरेलियां मनाऊं। उन्होंने मुझे अलग-अलग स्टाइल में पूरी रात चोदा।

हॉट और सेक्सी सेक्स कहानियां  छोटे भाई से चुदवाकर अन्तर्वासना शांत करती सगी बड़ीबहन

हम दोनों सुबह 4:00 बजे सोए और फिर दिन में 12:00 बजे उठे। हम दोनों बाथरूम में साथ नहाए दोनों नंगे नहाए वहां पर भी फिर चुदाई की। अंकल मुझे फिर एक फाइव स्टार होटल में दोपहर का खाना लंच करवाने के लिए ले गए वहां पर मैं बड़े स्टाइल से गई थी। और वहां पर हम दोनों ने लंच किया। फिर हम दोनों ने वहीं पर मूवी देखा। मॉल में घूमे मेरे लिए उन्होंने फिर से 1 जोड़ी कपड़े खरीदे जो बहुत ही बेहतरीन थे मैंने 10 से ₹12000 की शॉपिंग की थी और उनके पैसे उन्होंने ही दिए थे।

पापा मम्मी का फोन आया तो वह लोग बहुत उदास है मैंने कहा उदासी की कोई बात नहीं है आप लोग चिंता मत करो मैं बहुत अच्छी हूं मैं बहुत खुश हूं अंकल ने मुझे कई सारे कपड़े दिलवाए जूते दिलवाए और मुझे किसी तरीके का उन्होंने कोई दिक्कत नहीं होने दिया मैं बहुत खुश हूं मैं कल शाम तक आपके घर पर आऊंगी।

दूसरी रात को भी उन्होंने मुझे जमकर चोदा क्योंकि उन्होंने शराब पिया और मुझे भी शराब पिलाया था। और उस रात मैंने उनको जो वादा किया था वह भी मैंने पूरा किया मैंने उनको पहले दिन ही कहा था कि गांड में दूसरे दिन मार लेना तो मैं उस दिन गांड मारने से भी उनको रोक नहीं पाए उन्होंने मेरी गांड में भी अपने लंड घुस आए और मेरे चूत को खूब चोदा।

तीसरे दिन उन्होंने मुझे फिर से खाना खिला कर दिन में और शाम तक मुझे अपने घर के पास वाली रोड पर उतार दिया मैं वहां से अपने घर चली गई। वह 2 दिन मेरे लिए बहुत यादगार दिन है दोस्तों क्योंकि उन्होंने मुझे इज्जत भी दिया पैसे भी दिए कपड़े भी दिए और अच्छे अच्छे खाने भी खिलाएं और ऐसा उन्होंने कुछ भी नहीं किया जो मेरी मर्जी के खिलाफ हो। अब वह अंकल मेरे बहुत बड़े फैन हो गए हैं मैं भी उनको चाहती हूं वह भी मुझे चाहते हैं। हम दोनों को एक दूसरे से कोई शिकवा शिकायत नहीं बल्कि प्यार बढ़ गया है। पर मेरे मम्मी पापा को उनके प्रति इतनी ज्यादा घृणा और नफरत हो गई है कि मैं आपको कह नहीं सकती।

मेरी एक फ्रेंड है जो कि जल्द ही इस वेबसाइट पर यानी मेरी सेक्स कहानी डॉट कॉम पर एक अपनी कहानी लिखने वाली है। और मैं भी जल्द ही आपको एक ऐसी कहानी पेश करूंगी जिससे आपका लंड तुरंत ही खड़ा हो जाएगा। तब तक के लिए शुक्रिया आपका बहुत-बहुत धन्यवाद आपने मेरी कहानी पर ही।

Leave a Comment